पूर्वी जोन अन्तर विश्वविद्यालयी  वॉलीबॉल प्रतियोगिता का शुभारंभ मंगलवार को डीएवी पीजी कॉलेज के स्व. पीएन सिंह यादव स्मृति क्रीड़ा प्रांगण में हुआ। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय की मेजबानी में हो रहेप्रतियोगिता में आठ मैचों की मेजबानी डीएवी पीजी कॉलेज को मिली है। मुख्य अतिथि, काशी हिंदू विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर वी.के. शुक्ला, प्राचार्य डॉ. सत्यदेव सिंह, प्रबंधक अजीत कुमार सिंह आदि ने खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर खेल का शुभारंभ किया। इस अवसर पर खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन करते हुए प्रोफेसर वी.के. शुक्ला ने कहा कि खेल प्रतियोगिताऐं युवाओं में खेल भावना और टीम वर्क की भावना को विकसित करती है।युवाओं की प्रतिभा को निखारने के लिए इस तरह के आयोजनों पर और बल दिया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले समय मे विश्वविद्यालय महाविद्यालय के साथ कई तरह के आयोजनों को बढ़ावा दिया जाएगा। प्राचार्य डॉ. सत्यदेव सिंह ने कहा कि यह हमारे लिए सौभाग्य का क्षण है कि हमे इस आयोजन की मेजबानी का मौका मिला। उन्होंने कहा कि वॉलीबॉल का खेल एक दूसरे से पास लेकर आगे बढ़ने का खेल है नाकि एक दूसरे को बाईपास करके आगे बढ़ने का। प्रतिभागियों को खेल को खेल भावना के साथ ही लेना चाहिए, इसे जीत हार से इतर रख सीखने की भावना सर्वोपरि रखें। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि जिला वॉलीबॉल एससोसिएशन के सचिव सर्वेश पाण्डेय, प्रोफेसर दिनेश चंद्र राय, प्रोफेसर अभिमन्यु सिंह ने भी खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया। इससे पूर्व अतिथियों का स्वागत महाविद्यालय के प्रबंधक/मंत्री अजीत कुमार सिंह ने स्मृति चिन्ह, पुष्पगुच्छ एवं शॉल प्रदान कर किया। संयोजन डॉ. मीनू लाकड़ा, संचालन डॉ. राकेश कुमार राम तथा धन्यवाद डॉ. सत्यगोपाल जी ने दिया। पहले दिन बहरामपुर विश्वविद्यालय, उड़ीसा तथा एपीएस विश्वविद्यालय, रीवा, मध्यप्रदेश के बीच उद्धघाटन मुकाबला हुआ। जिसमे एपीएस विवि ने 3-1 से जीत हासिल की। एपीएस ने 25-17, 21-25, 25-18, 25-19 से जीत दर्ज की। मैच रेफरी संतोष सिंह, विनोद सिंह, रोहित मौर्य रहे।